हम बचाते रहे दीमक से घर अपना,
चंद कीङे कुर्सी के सारा मुल्क खा गये !!