अगर हम कुछ भी करने का निश्चय कर लें, तो उसे हम करके ही रहते हैं, क्योंकि असंभव जैसा इस दुनिया में कुछ भी नहीं।