रंगपंचमी शायरी - Rangpanchami Shayari

बेहतरीन और चुनिंदा शायरी का संग्रह जो की रंगपंचमी शब्द को बहुत ही शानदार तरीके से वर्णित करता है !!
यहाँ आप हर तरह की शायरी को पढ़ सकते है और अपने चाहने वालो को शेयर कर सकते है !!


थोड़ा रंग अभी बाकी है थोड़ी गुलाल अभी बाकी है क्यों मायूस होते हो ज़िन्दगी के झमेलो से रंगपंचमी की फुहार अभी बाकी है !!

ये उनकी मोहब्बत का नया दौर है

ये उनकी मोहब्बत का नया दौर है
जहाँ था कल तक मैं... वहाँ आज कोई और है

Read more...

Newsletter